Rajput Ko Kaise Kabu Kare ? राजपूत को काबू में कैसे करे ? Rajput Ko Kabu Kaise Kare ?

2

Rajput Ko Kabu Kaise Kare ? – राजपूत समाज देश के सबसे शूरवीर समाजो में से एक हैं। अगर भारत का इतिहास उठाकर देखा जाए और उसमे सबसे मजबूत और तजत्वर शूरवीर समाजो के बारे में पढ़ जाए तो राजपूतो का नाम जरूर शामिल होगा। जब एक तरफ देश भर के विभिन्न क्षेत्रो के राजा अरब देशो से आये मुगलो के आगे झुक रहे थे और उनके साथ मिक रहे थे वाकई राजपूत शासक मुगलो को कड़ी टक्कर दे रहे थे।

कई राजपूत शासको ने तो मुगलो को लगातार हराया भी हैं। महाराणा सांगा, महाराणा प्रताप और हम्मीर जैसे महान शासके राजपूत ही थे। अगर आप राजपूतो को खुश करना चाहते हो या फिर कहा जाए तो Rajput Ko Kabu Kaise Kare ? राजपूत को काबू में कैसे करे ?  या करना चाहते हो तो इस लेख में हम आपको ‘Rajput Ko Kabu Kaise Kare ?  (राजपूत को काबू में कैसे करे ?) के विषय में बताने वाले हैं। या फिर इसके अलावा आप google में ये सब भी सर्च करते है तो इस सभी सवाल का जवाब मिल जाएगा।

  • rajput ko kabu kaise kare ?
  • rajput ko kaise kabu kare ?
  • rajput ko kabu me kaise kare ?
  • rajput ko kabu mein kaise karen ?
  • rajputo ko kabu kaise kare ?
  • राजपूत को काबू में कैसे करें ?
  • राजपूत को काबू में कैसे करे ?
  • राजपूतों को काबू में कैसे करें ?
  • rajputo ko kaise kabu kare ?
  • rajput ko kabu kaise karen ?
  • rajputo ko kabu me kaise kare ?

क्या राजपूत को काबू करना मुमकिन हैं ? Kya Rajput Ko Kabu Kiya Ja Sakta Hai ?

राजपूत हमारे देश का वह भाग हैं जिनके बिना यह देश अधूरा हैं। स्वाभिमान से भरपूर राजपूत समाज को काबू करने के सपने देखने वाले लोग यह जान ले की यह वह संघ हैं जिसे लाखो सैनिको मुगल तक नही रोक पाए। लेकिन काबू करने का मतलब किसी को वश में करना या फिर किसी पर जीत हासिल करना नही होता।

हर समाज का अपना एक महत्व और शौक होते है और अगर आप उनका ध्यान रखे तो आप उन्हें खुश कर सकते हैं। अगर आपका कोई राजपूत मित्र हैं और आप उन्हें खुश करना चाहते हैं तो इस लेख में हम आपसे राजपूत को खुश करने के कुछ तरीके बताएंगे।

Rajput Ko Kabu Kaise Kare
Rajput Ko Kabu Kaise Kare

Rajput Ko Kabu Me Kaise Kare ? राजपूत को काबू कैसे करे? (राजपूतो को खुश कैसे करे – Rajput Ko Kabu Kaise Kare ) 

अगर आपका कोई दोस्त या कोई नजदीकी व्यक्ति राजपूत हैं और Rajput Ko Kabu Kaise Kare ? या आप उसे खुश करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास काफी सारे विकल्प हैं। राजपूतो को खुश करने के कई तरीके हैं, जिनमे से कुछ तरीको के बारे में हम इस लेख में बताएंगे।

1 . राजपूत को सम्मान दे : इस बात में कोई दो राय नहीं हैं की स्वाभिमानी व्यक्ति के लिए अगर कोई चीज सबसे ऊपर होती हैं तो वह होती हैं उनकी इज्जत! ऐसे व्यक्तियों को आप पैसो से या फिर किसी और लालच से खुश नहीं कर सकते। अगर आप इन्हें खुश करना चाहते हैं तो इन्हें सम्मान दे।

राजपूतो को खुश करने के लिए आपको उन्हें सम्मान देना होगा। बल्कि राजपूत ही नहीं, जिस भी व्यक्ति को खुश करना चाहते हो उसे सम्मान दे। ऐसे में अगर आप किसी राजपूत व्यक्ति को खुश करना चाहते हैं तो उन्हें सम्मान दे, उनका आदर सत्कार करे और उनके साथ सम्मान से पेश आये।

2 . इतिहास के बारे में बात करे : राजपूतो के बारे में एक खाद बात यह हैं की यह इतिहास से जुड़े हुए हैं। राजपूतो के बिना देश का इतिहास अधूरा हैं। राजस्थान के बेताज बादशाह राजपूत शासक रहे हैं। जैसा इतिहास राजस्थान का है, शायद ही किसी अन्य राज्य का रहा होगा। राजपुत एक ऐसा समाज हैं जो इतिहास से जुड़ा हुआ रहता हैं। अपने इतिहास को भूल जाना बिल्कुल भी सही बात नहीं है और यह सज्जनो का प्रतीक भी नहीं हैं। राजपूत व्यक्ति हमेशा इतिहास के बारे में याद रखता हैं। ऐसे में अगर आप किसी राजपूत व्यक्ति को खुश करना चाहते हो तो आप उनसे इतिहास के बारे में बात कर सकते हैं।

3 . धार्मिक बात करे : अगर आप ये सर्च करते है Rajput Ko Kabu Kaise Kare ? तो आपको बता दे राजपूतों के बारे में एक बात खास होती हैं की यह धनेश धार्मिक होते हैं। धर्म से जुड़ा इंसान तेजी से प्रगति करता है और दुनिया की बेहतर समझ रखता हैं। धर्म हमे जीने का एक तरीका बताता है और हमे एक उद्देश्य देता हैं। धार्मिक व्यक्ति के पास हमेशा एक आशा रहती है जो उसे प्रेरणा देने में बड़ा योगदान देती हैं। राजपूत व्यक्ति हमेशा धर्म में समर्पित रहते हैं। ऐसे में अगर आप किसी राजपूत व्यक्ति को खुश करना चाहते हैं तो आप उनसे धार्मिक बाते कर सकते हैं। राजपूत व्यक्ति सभी हिन्दू देवताओ को मानते हैं। भगवान श्रीराम, महादेव (शिव शंकर), माता रानी और गणेश जी के परम भक्त होते हैं राजपूत।

4 . इनके शौक का ध्यान रखे : राजपूत की ठाट बाट के चर्चे पूरे देश में ही नही बल्कि दुनिया में हैं। जो कम्पनिया लोगो के हैसियत और औकात देखकर अपनी गाड़िया बेचा करती थी उन गाड़ियों से राजपूत राजाओ ने कचरे उठवाए हैं। कई अन्य समाजो को तरह राजपूतो के शौक भी वाकई में काफी उचे होते हैं। इनके अधिकतर शौक मानवीयता और धर्म से जुड़े हुए होते हैं।

इसके अलावा राजपूतो में शाही शौक जैसे की गाड़ियों का शौक, ट्रेवलिंग का शौक, रॉयल इनफील्ड का शौक आदि भी पाया जाता हैं। पूजा पाठ भी इन्हें पसन्द होता हैं। मुख्य रूप से अधिकतर राजपूत शाकाहारी होते हैं। ऐसे में अगर आप इन्हें खुश रखना चाहते हैं तो इनके शौक का ध्यान रखे।

5 . कभी इनके सामने विरोधी बाते ना करे : अगर आप किसी राजपूत को खुश करना चाहते हैं तो इस बात का ध्यान रखे की उनके सामने विरोधी बाते ना करे। यह उन लोगो की तरह नही जो अपने काम से काम रखते हो और किसी की बात पर अधिक ध्यान ना देते हैं। स्वाभिमानी राजपूत समाज विरोधी बाते बिल्कुल भी पसन्द नही करता।

देश विरोध या फिर धर्म विरोध राजपूतो को बिल्कुल बर्दाश्त नही होता। इसके अलावा इनके पसन्द की चीज का विरोध करना भी आपकी छवि इनकी नजरो में बिगाड़ सकता हैं। ऐसे में अगर आप आने किसी राजपूत मित्र, सहकर्मी या फिर सहपाठी को खुश करना चाहते हो तो इस बात का ध्यान रखे की इनके सामने कभी विरोधी बाते न करे।

तो यह थे कुछ तरीके जिनका उपयोग करते हुए आप राजपूत को खुश कर सकते हैं। सभी समाज के व्यक्तियों की अपने अपने शौकों और गुणों के अनुसार अपनी अपनी पसन्द होती हैं। ऐसे में अगर आप उन्हें खुश करना चाहते हैं तो आपको यह बात ध्यान रखनी होगी कि आपको उन्हें उनके अनुसार ट्रीट करना होगा। इस लेख में हमने आपको राजपूत को काबू कैसे करे (Rajput Ko Kabu Kaise Kare – Rajput Ko Khush Kaise Kare) या फिर कहा जाए तो Rajput Ko Kabu Karne Ke Tarike के बारे में बताया हैं। अगर आपके दिमाग में इस लेख से जुड़ा हुआ कोई सवाल चल रहा हैं तो हमे कमेंट करके जरूर बताये।

राजपूत का अर्थ क्या है ?

राजपूत Meaning in Hindi – राजपूत का मतलब हिंदी में
योद्धा जाति

सबसे ऊंचा राजपूत कौन है ?

राजपूतों में मेवाड़ के महाराणा प्रताप और पृथ्वीराज चौहान का नाम सबसे ऊंचा है।

क्षत्रिय और राजपूत में क्या अंतर है ?

इन वर्णों में क्षत्रियों की भूमिका ब्राह्मणों के बाद काफी महत्वपूर्ण थी। ये जहाँ समाज और पशुओं की सुरक्षा करते थे वहीँ समाज को अच्छा शासन प्रदान करते थे ताकि समाज के लोग शांतिपूर्वक जीवन व्यतीत कर सकें। कालांतर में यह क्षत्रिय वर्ण क्षत्रिय जाति में परिणत हो गया और बाद में यह राजपूत के नाम से जाना जाने लगा।

राजपूतों के गुरु कौन थे ?

गुरु गोबिंद सिंह 

राजपूतों के पूर्वज कौन थे ?

कई विद्वानों द्वारा यह कहा गया है कि राजपूत विदेशी आक्रमणकारियों जैसे कि शक, कुषाण, श्वेत-हूण आदि के वंशज हैं।

राजपूत और ठाकुर में क्या अंतर है ?

राजपूत : क्षत्रिय राजवंशों के वंशजों को राजपुत्र कहा जाता था, जिसका अपभ्रंश राजपूत हुआ। … ठाकुर : क्षत्रिय राजपूतों की एक पदवी होती है।

राजपूत काल की कौनसी प्रथा आज भी हिन्दू समाज में प्रचलित है ?

यद्यपि कोई पर्दा प्रथा नहीं थी।

राजपूतों की कितनी जाति होती है ?

अर्थ:-दस सूर्य वंशीय क्षत्रिय, दस चन्द्र वंशीय, बारह ऋषि वंशी एवं चार अग्नि वंशीय कुल छत्तिस क्षत्रिय वंशों का प्रमाण है, बाद में भौमवंश. , नागवंश क्षत्रियों को सामने करने के बाद जब चौहान वंश चौबीस अलग- अलग वंशों में जाने लगा तब क्षत्रियों के बासठ अंशों का पमाण मिलता है।

पहला राजपूत राजा कौन था ?

सं. 1162 (ई. 1105) के अभिलेख में अजमेर के राजा पृथ्वीराज चौहान (प्रथम) का उल्लेख है।

राजपूत को कैसे हराया जाए ?

आप उसके काबिल है तो हरा सकते है क्यूँकि दुनिया में हर काम सम्भव है और चाह ले तो कोई भी काम कर सकता है।

Advertisement-  अगर आप Anytechinfo.com के किसी भी पोस्ट के Anchor Text से Backlink लेना चाहते है या फिर आप अपने Product का Promotion करवाना चाहते है, तो आप हमें ईमेल कीजिए । हम काफी कम कीमत में Deal करते है । Email Id - [email protected]

2 कॉमेंट्स

  1. बेहतरीन पोस्ट रवि जी आपने राजपूत के बारे बहुत अच्छी जानकारी दी है

जवाब दे

अपना कोमेंट लिखे
अपना नाम लिखे

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.